मंगलवार, 6 अगस्त 2019

रेप केस का मामला अब यूपी से बाहर ट्रांसफर किया जाएगा साथ ही सुनवाई

उन्होंने ग्रे बीते दिन चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई ने खुली अदालत में चिट्ठी न मिलने पर नाराजगी जताई थी पर ये राहत किया था कि अब इस मामले में हीलाहवाली नहीं चलेगी आज इस केस को ये बड़ादेव था आज मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई उस चिट्ठी पर भी सुनवाई होनी थी कि चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को लिखी गई थी जैसे ही सुनवाई शुरू हुई बीजेपी और योगी सरकार की पंद्रह यानी कि कैफीन भंग हुई सबसे पहले बात इस बात की कुछ भी पर भी भाजपाई हैं की नहीं ख़बर आई कि बीजेपी में अपनी नाक बचाने के लिए आखिरकार कुछ दीपकों पार्टी बर्खास्त कर दिया है यानी पूरी तरह निकाल दिया है पहले खबरें आई थीं कि निलंबित किया है अभी भी खबरें आ रही है प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के हवाले से कही नहीं चल रहा है कि निलंबित ही किया गया है और मुख्यमंत्री के सचिवालय से दबा हो रहा है केंद्रीय नेतृत्व में फैसला ले लिया है मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार हमारी बात हुई उन्होंने यह बात कही कि राज्य सरकार तो अक्सर शाह सारे कानूनों का पालन कर रही है मामला सीबीआई के पास है हम कहीं नहीं है जो भी सामने आ रहा है न्याय संगत कार्रवाई की जा रही है लेकिन बयानों और हकीकत के बीच अभी तक मामला कहा है जान लेते हैं कुलदीप पार्टी से निलंबित चल रहे थे उन्हें निकालने की बात पर बीजेपी स्पष्ट नहीं हो पा रही थी एक बात यह भी कहा गया कि दोषी साबित हुए तो एक्शन लिया जाएगा ये भी कहा यहाँ के अनुशासन भंग के मामले में जिनके ख़िलाफ़ शिकायतें उसे मौका मिलेंगे लेकिन क्योंकि यहाँ पर विधायक जेल में है इसलिए वह कार्रवाई नहीं हो पाई और मामला सिर्फ यहीं नहीं अटका था मामले के गवाह लड़की के वकील भाई देवेन्द्रसिंह वो भी डेढ़ साल से परेशान थे उनका कहना है कि हम सुरक्षा मांग रहे थे अब तक सरकार ने कुछ नहीं किया था अब अचानक सुरक्षा के लिए गनर दे दिया सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से ठीक पहले यू सरकार ने एक पुरुष और दो महिला सुरक्षाकर्मी हैं जो उस लड़की के साथ तैनात थे उसके साथ होना था लेकिन उसने नहीं थे दुर्घटना के दिन से निलंबित कर दिया यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी सामने आए उन्होंने भरोसा सरकार इस मामले में सकारात्मक कदम उठा रही है पीड़ित के परिवार के लगातार संपर्क में अस्पताल के सम्पर्क में हर जरूरी सुविधा मुहैया कराई जा रही है हम सुप्रीम कोर्ट का स्टे कर दिया बात क्या हुआ दिन भर अपने सरकार की कार्रवाई सोनी सुप्रीम कोर्ट में दिन में तीन बार मामले को लेकर सुनवाई और तीनों ही बार मामले को चीफ जस्टिस ने खुद चुना शुरुआत में सीबीआई और यूपी सरकार से उन्नाव मामले की स्टेटस रिपोर्ट मांगी गई साथ ही लड़की की मेडिकल रिपोर्ट भी मंगाई थी फिर सुप्रीम कोर्ट का आदेश आया कि रेप केस का मामला अब यूपी से बाहर ट्रांसफर किया जाएगा साथ ही सुनवाई

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें